1 of 1 parts

जायका राजस्थानी पंचकुटी दाल का...-Rajasthani mix Dal

By: Team Aapkisaheli | Posted: 17 Mar, 2016

जायका राजस्थानी पंचकुटी दाल का...-Rajasthani mix Dal
अपने जायके को और भी मजेदार बनाना चाहती हैं तो जरा चखिए राजस्थानी पंचकुटी दाल का स्वाद।
सामग्री-:
हरी मूंग दाल 1 कप
चना दाल 1/2 कप
तुअर दाल 1/2 कप
मसूर धुली दाल 1/2 कप
उडद धुली दाल 4 बडा चम्मच
लाल मिर्च पाउडर 1 छोटा चम्मच
हींग पाउडर
कटी हुई हरी मिर्च 1
जीरा 1 छोटा चम्मच
दाल चीनी 1 स्टिक
करीपत्ता 5-7
लौंग 6-7
बडी इलायची 2-3
तेजपत्ता 1-2
घी 4-5 बडा चम्मच
सजाने के लिए धनिया पत्ती।

बनाने की विधि- सभी दालों को आपस में मिलाकर साफ कर लें। अब दस कप पानी में दालों को डालकर नमक, हल्दी डालें और 2 सीटी आने तक कुकर में पकाएं। कुकर के ढक्कन को खोलकर दाल को अच्छी तरह से मिक्स कर लें। अब कडाही में घी गर्म करें, और जीरा, लौंग, बडी इलायची, दाल चीनी हरी मिर्च, हींग, लाल मिर्च पाउडर व करीपत्ता का छौंक लगाकर पकी हुई दाल को डालें। थोडी देर पकने के बाद धनिया पत्ती से सजाकर गर्मागम सर्व करें।
Rajasthani mix Dal recipe, mix dal reicpe, how to make Rajasthani most popular dal dish, Indian most popular Dal recipe, recipe for Rajasthani mix Dal, traditional dish

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer