अगर भारत हमला करेगा तो हम जवाब देंगे : इमरान

By: Team Aapkisaheli | Posted: 19 Feb, 2019

अगर भारत हमला करेगा तो हम जवाब देंगे : इमरान
इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को कहा कि अगर भारत जम्मू एवं कश्मीर में 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले के मद्देनजर पाकिस्तान पर हमला करेगा तो उनका देश निश्चित ही इसका जवाब देगा।

लेकिन, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर भारत ‘कार्रवाई करने योग्य जानकारी’ उपलब्ध कराएगा तो आत्मघाती हमले में शामिल पाए जाने वाले किसी भी पाकिस्तानी नागरिक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

खान ने अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा, ‘‘अगर आप (भारत सरकार) सोचते हैं कि आप हम पर हमला करेंगे और हम जवाब देने के बारे में नहीं सोचेंगे....हम जवाब देंगे। हमारे पास जवाब देने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचेगा। हम सभी जानते हैं कि युद्ध शुरू करना आसान है...लेकिन यह हमें कहां ले जाएगा, केवल ईश्वर जानता है।’’

खान ने कहा कि भारत सरकार ने बिना सबूत के पुलवामा हमले का आरोप पाकिस्तान पर लगाया, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर भारत ‘कार्रवाई करने योग्य जानकारी’ उपलब्ध कराएगा तो इस्लामाबाद इसकी जांच करने के लिए तैयार है।

खान ने कहा, ‘‘भारत ने पाकिस्तान पर बिना सबूतों और बिना यह सोचे हम पर आरोप लगाए कि इससे हमें कैसे फायदा होगा...यह नया पाकिस्तान है...हमारी नई सोच है... पाकिस्तान ऐसी चीजें क्यों करेगा जब वह स्थायित्व की दिशा में बढ़ रहा है।’’

भारत ने जम्मू एवं कश्मीर में 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले के लिए इस्लामाबाद को जिम्मेदार ठहराया है, जिसके कई दिनों बाद खान की तरफ से यह प्रतिक्रिया आई है। पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली थी।

हमले में पाकिस्तान का हाथ होने से इनकार करते हुए, पाकिस्तानी नेता ने कहा, ‘‘भारत में चुनाव होने वाले हैं और हम जानते हैं कि पाकिस्तान पर हमले के बारे में बोलना एक लोकप्रिय उपाय है।’’

हमले की जांच की पेशकश करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान हमले के बारे में जांच करने के लिए तैयार है और अगर भारत कार्रवाई करने योग्य सूचना मुहैया कराएगा तो हम कार्रवाई करने के लिए तैयार है। यह हम इसलिए नहीं करेंगे कि हम दबाव में है, बल्कि इसलिए करेंगे कि यह हमारी नीति है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई कहीं भी आतंकवादी हमलों के लिए हमारी धरती का इस्तेमाल करता है तो वह हमारा दुश्मन है। यह हमारे हितों के खिलाफ है।’’

इमरान ने कहा, ‘‘आप अतीत से निकलना नहीं चाहते और जब भी कश्मीर में कोई घटना होती है, आप उसके लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहरा देते हैं। कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के स्थान पर, वार्ता शुरू करने या आगे बढऩे के स्थान पर, आप इस्लामाबाद को बार-बार बलि का बकरा बनाते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत को यह सोचना चाहिए कि कश्मीर में लोग उससे इतने गुस्से में क्यों हैं। कश्मीरी अब मौत से नहीं डरते हैं। इसके पीछे कुछ तो कारण होगा। क्या इसपर भारत में चर्चा नहीं होनी चाहिए?’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब भी पाकिस्तान, भारत के साथ वार्ता शुरू करना चाहता है, नई दिल्ली की पूर्व शर्त होती है कि आतंकवाद पर चर्चा होनी चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘हम आतंकवाद पर बात करने को तैयार हैं। आतंकवाद क्षेत्रीय मुद्दा है...हम चाहते हैं कि क्षेत्र में आतंकवाद समाप्त हो। पाकिस्तान आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित है। इसलिए हम आपसे बातचीत करने के लिए तैयार है।’’

खान ने कहा, ‘‘कश्मीर मुद्दा, अफगान मुद्दे की तरह बातचीत से ही सुलझेगा।’’

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख ने कहा कि उन्हें मुद्दे पर बोलने में देरी हुई क्योंकि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान उनके देश आए हुए थे।

उन्होंने कहा, ‘‘क्या हम ऐसे (आत्मघाती हमले जैसे) कार्य करेंगे, जब सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस यहां का दौरा कर रहे हों? क्या कोई मूर्ख भी कांफ्रेंस को बर्बाद करने के बारे में सोचेगा और इससे भला हमें क्या फायदा होगा?’’
(आईएएनएस)

सोनाक्षी के बोल्ड लुक्स देखकर हैरान हो जाएंगे आप!

उफ्फ्फ! ऐश ये दिलकश अदाएं...

अनचाहे बालों को हटाना अब मुसीबत नहीं...


Mixed Bag

error:cannot create object