1 of 1 parts

खुद को अपने पार्टनर को पूरी तरह सौप देना चाहते हैं यह राशि वाले

By: Team Aapkisaheli | Posted: 07 Nov, 2017

खुद को अपने पार्टनर को पूरी तरह सौप देना चाहते हैं यह राशि वाले
कर्क (22 जून- 22 जुलाई) : कर्क प्रेमी भावनात्मक तथा केयर करने वाले होते है। चन्द्रमा के द्वारा शासित होने के कारण इनकी भावनाए ज्वार-भाटे की तरह झूलती रहती है। इनकी भावनाओं को समझने के लिए अन्य राशियों को खुद को इनके प्रति समर्पित कना पडेगा और जब एक बार आप कर्क राशि वालों की भावनाओं को समझ कर उसमें बहने लगेंगे तब आप पाएंगे कि आप एक अंत्यत संवेदनशील और मिठास भरे रिश्ते से पुरस्कृत है। कर्क राशि वाले बिस्तर में खुद को अपने पार्टनर को पूरी तरह सौप देना चाहते है। अगर पुरूष कर्क है तो कम से कम अपनी यौन कल्पनाओं में स्तनों की तरफ तथा यदि महिला कर्क है तो सुडौल शरीर की तरफ ज्यादा आर्कषित होते है। यौन क्रीडाओं के समय ज्यादातार कर्क आपको हमेशा यह नहीं बताते है कि उन्हें किस चीज से उत्तेजना हो रही है परंतु वह यह उम्मीद अवश्य करते है कि आप उनकी यौन इच्छाओं को जानने का प्रयास करे।

अन्य राशियों के साथ अनुकूलता :
कर्क-मेष :
इन दोनों में एक मजबूत सेक्स ड्राइव की विशेषता होती है। जहा मेष राशि वाले, कर्क राशि वालों को प्यार में सेक्स का एक अलग ही अनुभव कराते है वहीं कर्क राशि वाले प्यार में भावनाओं की सुरक्षा दर्शाते है। परंतु इनका संबंध अक्सर केवल सेक्स पर ही टिका होता है इसलिए संगतता कुंडली के अनुसार इन दोनों का रिश्ता असल में एक तूफान की तरह होगा जिसमें शादी को संभालना भंवर में फंसे जहाज का नेतृत्व करने जैसा होगा।
कर्क-वृषभ : वृषभ, कर्क राशि वालों की यौन इच्छाओं की पूर्ति करने में सक्षम होते है। यह संयोजन प्यार और सेक्स दोनों के लिए उपयुक्त है। यह दोनों यौन संबंधों में एक दूसरे को सभी आनन्द देने में सक्षम होते है। वृषभ, कर्क राशि वालों को गहराई से प्यार करते है और उनके प्रत्येक अंग में प्यार की छाप छोड जाते है। कर्क राशि का प्रभाव वृषभ राशि वालों पर बहुत स्थिर होता है तथा यह दोनों यौन संबंधों में गहराई से एक दूसरे को हर रूप में संतुष्ट करते है, यह एक परफेक्ट संयोजन है।
कर्क-मिथुन : यह संयोजन खतरनाक है। कर्क राशि वाले अपनी भावनाओं को बताने में बहुत ही शर्मीले और संवेदनशील होते है। मिथुन राशि वाले प्यार को एक खेल समझेत है जिसे कर्क राशि वाले सच समझ लेते है। अलग-अलग टेंपरामेंट के कारण इन्हे यौन सुख प्राप्त करने में दिक्कतों का सामना करना पड सकता है। अत: इनका संयोजन फीका व शादी दुखदायी होगी।
कर्क-कर्क : यह दोनों एक साथ खुश रहते है परंतु दोनों के अत्याधिक भावुक स्वभाव के कारण कई बार भावनात्मक समस्याओं का सामना करना पड सकता है। दोनों ही यौन संबंधों में अग्रणी भूमिका रखना चाहते है जो कई बार झगडे व आलोचना का कारण बन जाती है। हालांकि यह एक दूसरे को शारारिक रूप से आर्कषित करते है और प्रारम्भ में इनका रोमांस भावनात्मक व पशेनेंट होता है। अनुकूलता के हिसाब से इनकी खुशहाल शादी को नकारा नहीं जा सकता है परंतु इसके लिए दोनों की तरफ से बहुत प्रयास करने होंगे।
कर्क-सिंह : सिंह राशि एक आकस्मिक रोमांस को पसंद करते है जबकि कर्क राशि एक गंभीर रिश्ते में विश्वास रखते है। कर्क राशि वाले एक सादे यौन रिश्ते से बढकर आपसकी संबंधों को मजबूत रखना चाहती है और अपने साथी का बहुत ध्यान रखती है। सिंह राशि वाले इसक लिए तैयर हो सकते है। परंतु उन्हें बदले में कुछ अधिक प्रशंसा चाहिए होती है अगर ऎसा नहीं हो पाता है तो यह एक दूसरे को नहीं समझ पाते है और एक अच्छे जोडों के रूप में असफल हो जाते है।
कर्क-कन्या : कन्या राशि स्वभाव से व्यवहारिक होती है जो इस संयोजन में कोर भूमिका निभाती है। कर्क राशि वाले कन्या राशि की तुलना में अधिक भावुक होते है परंतु यह आपसी स्नेह स्थापित करने में सक्षम होते है। इसके अलावा इनके बीच यौन संगतता भी अच्छी होती है। कुंडली अनुकूलता के हिसाब से एक अच्छा यौन अनुभव करेंगे और काफी अच्छी शादी का सुख भोग सकेंगे।

कर्क-तुला : वफादार स्वभाव के तुला राशि वालों का अस्थिर स्वभाव वाले कर्क राशि के साथ डील करने में थोडी परेशानी जरूर होती है। इनके बीच यौन संगतता अच्छी नहीं होती है, आपसी मोह उत्पन्न हो सकता है परंतु शादी जोखिम भरी होगी।

कर्क-वृश्चिक : वृश्चिक शक्तिवान होते है जो अपने साथी की रक्षा कर सकते है। कर्क यौन संबंधों में संवेदनशील तथा वृश्चिक बहुत पशेनेट होते है। हालांकि कर्क राशि वाले यौन बिस्तर पर इन्हे खुश रखने का पूरा प्रयास करते है इसलिए इनके बीच आने वाले कई दिक्कते खत्म हो जाती है। इनके बीच प्यार स्थायी होगा। कुंडली संगतता के अनुसार दोनों के बीच अद्भुत प्यार, रोमांस तथा सेक्स अर्थात एक परफेक्ट शादी की संभावना है।
कर्क-धनु : यह दोनों विपरीत उद्देश्य व इच्छाओं वाले होते है। धनु किसी भी यौन संबंधों की सीमाओं में बंधना पसंद नहीं करते है। कर्क राशि प्यार में निश्चिता चाहते है। जो धनु राशि वाले इन्हे प्रदान नहीं कर पाते है। इसलिए इनके बीच यौन सुख की प्राçप्त नहीं हो पाती है। संगतता के अनुसार यौन आनन्द शून्य व शादी अस्पष्ट दृष्टिकोण वाली साबित होगी।
कर्क-मकर : मकर राशि, कर्क राशि को उनकी जरूरत के हिसाब से स्नेह देने में सक्षम नहीं हो पाते है, लेकिन इन दोनों के बीच सेक्स ड्राइव बहुत मजबूत होती है जब तक कर्क राशि वाले मकर राशि वालों के प्रेक्टिकल व्यवहार से ऊब नहीं जाते है तब यौन बिस्तर पर सब कुछ बहुत खूबसूरत होता है। इनका रिश्ता अस्थिर होता है, संगतता कुंडली इन्हें शादी न करने की सलाह देती है।
कर्क-कुंभ : कर्क राशि वाले, कुंभ राशि की तुलना में अधिक खुली प्रवृति के तथा स्थिर होते है जो नित नए रोमांच और रोमस की तलाश करते है। यह दोनों कुछ समय के लिए यौन बिस्तर पर अच्छा समय बिता सकते है परंतु कुडली संगतता के अनुसार आम जिन्दगी में इनकी शादी विफल हो जाएंगी।
कर्क-मीन : अगर यौन संबंधों की बात करे तो यह एक अच्छा संयोजन है। इनके आपसी झगडे अल्पकालिक होते है कि यौन बिस्तर पर सुलझ जाते है। संगतता कुंडली के अनुसार यह एक अच्छा संयोजन है जो एक लंबे समय तक चल सकता है।

#बॉलीवुड सेलिब्रिटीज सफेद रंग के लिबास में


sex life according to astrology, sex life, according to astrology

Mixed Bag

error:cannot create object