परदेस में रहने के सकारात्मक पहलू दिखाएगी ‘...द फकीर’ : धनुष

By: Team Aapkisaheli | Posted: 08 Jun, 2019

परदेस में रहने के सकारात्मक पहलू दिखाएगी ‘...द फकीर’ : धनुष
मुंबई। अभिनेता व फिल्म निर्माता धनुष अपनी पहली अंतर्राष्ट्रीय फिल्म ‘द एक्स्ट्राऑडिनरी जर्नी ऑफ द फकीर’ की रिलीज को लेकर अपनी कमर कस चुके हैं। इस फिल्म के जरिए उन्होंने वैश्विक आप्रवासन और उसके सकारात्मक पहलुओं पर प्रकाश डालने का प्रयास किया है।

फिल्म की कहानी भारत से शुरू होती है, जो बाद में पेरिस, लंदन और लीबिया जैसी जगहों तक पहुंचती हैं। फिल्म की मुख्य भूमिका में अजातशत्रु लवश पटेल हैं, जो इन देशों की यात्रा तय करते हैं।

दुनियाभर के आप्रवासियों को होने वाली परेशानियों के बारे में फिल्म में दिखाया गया है।

इस बारे में आईएएनएस से बात करते हुए धनुष ने बताया, ‘‘फिल्म में हमने आप्रवासन जैसे मुद्दे के सकारात्मक पहलुओं को दिखाया है। इससे कोई फर्क पड़ सकता है और नहीं भी। हालांकि फिल्म बनाने का उद्देश्य यह था भी नहीं। मुख्य रूप से यह एक ऐसी फिल्म है, जिसमें अजातशत्रु की यात्रा दिखाने के साथ ही वैश्विक आप्रवासन के बारे में भी बताने की कोशिश की गई है। ’’

केन स्कॉट द्वारा निर्देशित यह फिल्म रोमेन पुर्तोलस द्वारा लिखे गए एक उपन्यास पर आधारित है। इस फिल्म में बेर्निस बेजो, एरीन मोरीआर्टी, बरखद आब्दी और जेरार्ड जुग्नॉट जैसे अंतरर्राष्ट्रीय कलाकारों ने काम किया है।

अंतरर्राष्ट्रीय कलाकारों के साथ काम करने के अनुभव के बारे में पूछे जाने पर धनुष ने बताया, ‘‘अलग-अलग देश और ख्यालात वाले इन कलाकारों के साथ काम करने का अनुभव काफी शानदार रहा। काम करने के दौरान मुझे उनसे काफी कुछ सीखने को मिला।’’

धनुष ने आगे कहा, ‘‘केन अंतरर्राष्ट्रीय निर्देशक हैं और उनका काम करने का तरीका हम सबसे काफी अलग है। मैं काफी सौभाग्यशाली हूं, जो मुझे ऐसे ग्लोबल कलाकारों के साथ काम करने का मौका मिला।’’

‘द एक्स्ट्राऑडिनरी जर्नी ऑफ द फकीर’ 21 जून को रिलीज होगी।

(आईएएनएस)

तिल मस्सों से हमेशा की मुक्ति के लिए 7 घरेलू उपाय

क्या देखा अपने: दीपिका पादुकोण का ग्लैमर अवतार

क्या सचमुच लगती है नजर !


Mixed Bag

error:cannot create object