1 of 6 parts

प्यार..इश्क..मोहब्बत है लेकिन कन्फ्यूजन ही कन्फ्यूजन

By: Team Aapkisaheli | Posted: 11 Apr, 2017

प्यार..इश्क..मोहब्बत है लेकिन कन्फ्यूजन ही कन्फ्यूजन
प्यार..इश्क..मोहब्बत है लेकिन कन्फ्यूजन ही कन्फ्यूजन
आज के नौजवान बिना शादी किये ही शादी का हर सुख पा लेना चाहते हैं। उनका मानना है कि शादी कर लेने से पहले जैसी आजादी छिन जाती है और आप के ऊपर एक परिवार का बोझ आ जाता है, जिसे वे बिल्कुल भी गवारा नहीं करते। मोहित सूरी का आगामी फिल्म ‘हॉफ गर्लफ्रेंड’ में मुख्य नायिका की भूमिका निभा रही अभिनेत्री श्रद्धा कपूर और अभिनेता अर्जुन कपूर है। अभिनेत्री श्रद्धा का कहना है कि, माता-पिता द्वारा प्रेम विवाह, लिव-इन-रिलेशन संबंधों के प्रति खुली सोच रखने के बावजूद कई युवा प्रतिबद्धता जताने और वैवाहिक रिश्ते की जिम्मेदारी उठाने से डरते हैं। फिल्म ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ चेतन भगत के इसी नाम के उपन्यास पर आधारित है, जिन्होंने एक बार बताया था कि यह दिलचस्प बात है कि आज के युवक-युवतियां एक-दूसरे के साथ अपने रिश्तों को लेकर स्पष्ट नहीं हैं और पशोपेश में हैं।

यह फिल्म आने वाली 19 मई को रिलीज हो रही है।  आजकल की यूथ बेस्ड अधिकतर फिल्मों में यही दिखाया जा रहा है और शायद इसलिए लोग देखना पसंद करते हैं क्योंकि ये आजकल के यूथ की सच्चाई भी है। इन दिनों ऐसी कई फिल्में बनी भी हैं जिसमें, युवा रिश्ते में तो रहना चाहते हैं लेकिन कमिटमेंट से दूर भागते है। इस श्रेणी में हॉफ गर्लफ्रेंड, ओके जानू, बेफिक्रे, ये जवानी है दिवानी, बार बार देखो, तमाशा, लव आज कल, सलाम नमस्ते है।

वहीं अभिनेत्री का कहना है कि, ‘मैंने अपने कई दोस्तों को देखा है जो रिश्ते के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध नहीं होना चाहते। शादी करके घर बसाना नहीं चाहते..वहीं इससे पहले की पीढ़ी यानी हमारे माता-पिता हमारी खुशी को ध्यान में रखकर अपने बच्चों की पसंद स्वीकार कर रहे हैं, चाहे वह लिव-इन-रिलेशन ही क्यों न हो। मैं अपने माता-पिता से इस बारे में खुलकर बात करती हूं।’


#वक्ष का मनचाहा आकार पाएं


प्यार..इश्क..मोहब्बत है लेकिन कन्फ्यूजन ही कन्फ्यूजन Next
why youth dont want commitment in relation, married life, relationship, love and romance, breakups,

Mixed Bag

error:cannot create object