1 of 1 parts

नौसेना में जानें का ये हैं अच्छा मौका,इन पदों पर निकली भर्तियां

By: Team Aapkisaheli | Posted: 22 Jan, 2018

नौसेना में जानें का ये हैं अच्छा मौका,इन पदों पर निकली भर्तियां
भारतीय नौसेना एज़हीमाला, केरल  ने एजुकेशन ब्रांच व एग्जीक्यूटिव ब्रांच पदों की भर्ती का नोटिफिकेशन जारी किया है। इच्‍छुक उम्‍मीदवार जो भारतीय नौसेना में नौकरी करना चाहते है, तो ये उनके लिए सुनहरा मौका है। योग्‍य उम्‍मीदवार भर्ती के लिए जल्‍द आवेदन करें। उम्‍मीदवार अपना आवेदन 10 फरवरी 2018 तक कर सकते है। भर्ती में उम्‍मीदवारों की आयु सीमा, योग्‍यता व अन्‍य जानकारी के लिए नीचे प्रारुप में देख सकते है।
भर्ती विवरण
विभाग का नाम - भारतीय नौसेना एज़हीमाला, केरल    पद का नाम - एजुकेशन ब्रांच व एग्जीक्यूटिव ब्रांच पद
पदों की संख्या - 38 पद
योग्यता - बी.एससी. / बी.कॉम. / बी.एससी. (आईटी) + पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा (फाइनेंस / लॉजिस्टिक्स / सप्लाई चैन मैनेजमेंट / मटेरियल मैनेजमेंट) / इंजीनियरिंग डिग्री / मास्टर डिग्री अथवा इसके समकक्ष डिग्री हो।
आवेदन की अंतिम तिथि - 10-02-2018
आयु सीमा - उम्मीदवार की आयु सीमा 02 जनवरी 1994 से 01 जनवरी 1998 (ब्रांच - 1) / 02 जनवरी 1994 से 01 जुलाई 1999 (ब्रांच - 2) के बीच हो ।   आवेदन कैसे करें - उम्मीदवार अपना आवेदन नीचे दी गयी ऑफीशियल वेबसाइट के माध्‍यम से 10 फरवरी 2018 तक कर सकते है।

#जानिये, दही जमाने की आसान विधि


Career option,vacancy,indian navy

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer