1 of 1 parts

देश में 2018 में 120 करोड़ अकाउंट हैकिंग के प्रयास

By: Team Aapkisaheli | Posted: 25 Apr, 2019

देश में 2018 में 120 करोड़ अकाउंट हैकिंग के प्रयास
नई दिल्ली। साल 2018 में 120 करोड़ से ज्यादा अकाउंट हैकिंग के हमलों के बाद भारत अमेरिका के बाद दूसरा देश है, जहां दुनिया में हैंकिंग के सबसे अधिक प्रयास होते हैं। एक नई रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है।

क्लाउड डिलिवरी नेटवर्क प्रदाता अकमाई टेक्नॉलजीज की ‘स्टेट ऑफ इंटरनेट/सिक्युरिटी’ रिपोर्ट के नए संस्करण के मुताबिक, प्रत्येक हमले में किसी व्यक्ति या कंप्यूटर द्वारा किसी अकाउंट को चुराने या यूजरनेम या पासवर्ड जनरेट करने के लिए लॉग इन किया गया।

साइबर हमलों के मामले में कनाडा तीसरे नंबर पर है। अमेरिका में 2018 में कुल 1,252 हैंकिंग के प्रयास दर्ज किए गए, जबकि भारत में 120 करोड़ और कनाडा में 102 करोड़ मामले दर्ज किए गए।

अकमाई की रिपोर्ट में कहा गया है कि इन हमलों में विभिन्न सेक्टर्स को निशाना बनाया गया, जिसमें मीडिया और एंटरटेनमेंट से लेकर रिटेल और गेमिंग प्रमुख रहे। हैकरों ने बड़े वीडियो और एंटरटेनमेंट ब्रांड्स को निशाना बनाया, ताकि वेरिफाइड अकाउंट का एक्सेस गुप्त बाजारों में जाकर बेचा जा सके।

(आईएएनएस)

#सफेद बालों से पाएं निजात: अपनाएं ये 7Home tips


India ,120 crore, account hacking, attempts, 2018

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer