1 of 1 parts

ओरिफ्लेम के दि वन ब्रोकारा से बढ़ाएं भौहों की खूबसूरती

By: Team Aapkisaheli | Posted: 20 Feb, 2019

ओरिफ्लेम के दि वन ब्रोकारा से बढ़ाएं भौहों की खूबसूरती
नई दिल्ली। किसी महिला की खूबसूरती बढ़ाने में भौहों की अपनी अहमियत होती है। इन भौहों को और आकर्षक बनाने के लिए स्वीडिश डायरेक्ट सेलिंग ब्यूटी ब्रांड ओरिफ्लेम अपना नया प्रोडक्ट दि वन ब्रोकारा लेकर आया है। हाई-परफॉर्मेंस वाला यह जेल ब्रो मस्कारा वाटरप्रूफ फाइबर फार्मूले के साथ है जो भौहों को फौरन आकर्षक बनाता है।

 दि वन ब्रोकारा का असर 10 घंटे तक रहता है। यह प्राकृतिक तौर पर मिलने वाले एवोकैडो तेल से समृद्ध है।

दि वन ब्रोकारा की रेंज के बारे में ओरिफ्लेम के दक्षिण एशिया के सीनियर मार्केटिंग डायरेक्टर, नवीन आनंद ने कहा, ‘‘कलर कॉस्मेटिक्स हमेशा से हमारे लिए सबसे रोचक श्रेणी में से एक रहा है। हमारा फोकस हमारे ग्राहकों तक अत्याधुनिक उत्पाद लाने पर है। दि वन ब्रोकारा आपको अपनी भौहों को तत्काल मोटा बनाने में मदद करता है जिससे आप ज्यादा बोल्ड और आत्मविश्वास से लबरेज नजर आती हैं।’’

यह 599 रुपये में उपलब्ध है।
(आईएएनएस)

#ब्लैक हैड्स को दूर करने के लिए घरेलू टिप्स


Increase the beauty of eyebrows by Oriflame The One Browcara

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer