1 of 6 parts

कुर्बानी का महत्व

By: Team Aapkisaheli | Posted: 23 Aug, 2017

कुर्बानी का महत्व
कुर्बानी का महत्व
ईद उल जुहा पर कुर्बानी दी जाती है। यह एक जरिया है जिससे बंदा अल्लाह की रजा हासिल करता है। बेशक अल्लाह को कुर्बानी का गोश्त नहीं पहुंचता है, बल्कि वह तो केवल कुर्बानी के पीछे बंदों की नीयत को देखता है। अल्लाह को पसंद है कि बंदा उसकी राह में अपना हलाल तरीके से कमाया हुआ धन खर्च करे। कुर्बानी का सिलसिला ईद के दिन को मिलाकर तीन दिनों तक चलता है।
कुर्बानी का इतिहास
इब्राहीम अलैय सलाम एक पैगंबर गुजरे हैं, जिन्हें ख्वाब में अल्लाह का हुक्म हुआ कि वे अपने प्यारे बेटे इस्माईल जो बाद में पैगंबर हुए को अल्लाह की राह में कुर्बान कर दें। यह इब्राहीम अलैय सलाम के लिए एक इम्तिहान था, जिसमें एक तरफ थी अपने बेटे से मुहब्बत और एक तरफ था अल्लाह का हुक्म। इब्राहीम अलैय सलाम ने सिर्फ और सिर्फ अल्लाह के हुक्म को पूरा किया और अल्लाह को राजी करने की नीयत से अपने लख्ते जिगर इस्माईल अलैय सलाम की कुर्बानी देने को तैयार हो गए।


#पहने हों कछुआ अंगूठी तो नहीं होगी पैसों की तंगी...


कुर्बानी का महत्व Next
Importance of Qurbani, happy eid, Qurbani on Eid ul zuha, Qurbani benefits, prayer information long lsland mosque lslamoc center of long lsland, may allah bless, be celebrated

Mixed Bag

error:cannot create object