1 of 6 parts

ऐसे करें कंघी की सफाई

By: Team Aapkisaheli | Posted: 28 Dec, 2017

ऐसे करें कंघी की सफाई
ऐसे करें कंघी की सफाई
हम बालों को सफाई पर जितना ध्यान देते हैं, शायद उतना कम ध्यान अपनी कंघियों की सफाई पर देते हैं। अगर आप अपनी कंघी को नियमित रूप से साफ नहीं करती हैं तो इससे कई तरह के संक्रमण हो सकते हैं। कंघी में धूल, कंडीशनर, कीटाणु, पुराने बाल और तेल होता है, जो कि बालों को नुकसान पहुंचा सकता है। हालांकि यह छोटी बात लगती है पर इसका नजीजा बालों की सेहत पर दिखता है। कंघी की सफाई हफ्ते में 1-2 बार जरूर कीजिए। तो मैडम जी, अपनी कंघी को अभी से ही साफ करना रूशु कर दें।
ज्यादातर हम अपना कंघा अपने साथ में जरूर रखते हैं। लेकिन मान लीजिए कि किसी दिन आपका फ्रेंड कंघा लाना भूल गया हो तो उसे अपना कंघा बिल्कुल भी इस्तेमाल ना करने दें। दूसरों का कंघा प्रयोग करने से रूसी की समस्या पैदा हो सकती है। साथ ही जूएं भी दूसरों के बालों से खुद के बालों में असानी से पहुंच जाते हैं।

#क्या देखा अपने: दीपिका पादुकोण का ग्लैमर अवतार


ऐसे करें कंघी की सफाई  Next
How to your clean hair brush, hair comb, hair loss, hair brush, home treatment for hair brush clean, clean hair brush

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer