1 of 1 parts

बैसाखी पर एक दम पारंपारिक तरीके से ऐसे हो तैयार....

By: Team Aapkisaheli | Posted: 13 Apr, 2018

बैसाखी पर एक दम पारंपारिक तरीके से ऐसे हो तैयार....
बैसाखी को मनाने के लिए पंजाब के लोग  ट्रैडिशनल  तरीके से तैयार होते हैं। लड़के भागड़ा और लड़कियां गिद्दा डालती है। पंजाब के अलावा भी भारत के अन्य राज्यों में इस दिन को अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। अगर आप इस बार बैसाखी पर एक दम पारंपारिक तरीके से तैयार होना चाहते हैं तो यहां से आइडियां ले सकते हैं।
फुलकारी- अगर आपको भारी-भरकम सूट पहनना पसंद नहीं है तो आप सिंपल और कम कढ़ाई वाले सूटे के साथ फुलकारी ले सकते हैं। ये आपको खूबसूरत लुक देगा।
पंजाबी जूती- पटियाला सूट या सिंपल सूट के साथ पंजाबी जूती आपकी पर्सनैलिटी को और भी निखार देगी। आपको मार्कीट में फुलकारी वर्क, घुंघरू, पॉम पॉम वाली जूती आसानी से मिल जाएगी।
एक्सेसरीज- एक्सेसरीज में मांग टीका, पायल, बैंग्ल्स पहन सकती हैं। बालों की चोटी करके परांदा भी लगा सकते हैं।

#क्या सचमुच लगती है नजर !


baisakhi, special stylish, look at traditional outfits

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer