1 of 3 parts

नौकरी में हर प्रकार की बाधा इन उपायों से होगी दूर

By: Team Aapkisaheli | Posted: 02 Dec, 2018

नौकरी में हर प्रकार की बाधा इन उपायों से होगी दूर
नौकरी में हर प्रकार की बाधा इन उपायों से होगी दूर
मां लक्ष्मी की कृपा और देवों का आशीर्वाद रहता है तो कभी भी कर्जा सिर पर नहीं होता लेकिन फिर भी कोई जातक कर्जे की मार से परेशान हो तो कुछ खास उपायों से जल्दी ही निजात पा सकता है।

कर्ज से तंग जातक सोमवार को एक रूमाल, 5 गुलाब के फूल, 1 चांदी का पत्ता, थोड़े से चावल तथा थोड़ा सा गुड़ लें और किसी विष्णु-लक्ष्मी मंदिर की मूर्ति के सामने रखकर 21 बार गायत्री मंत्र का पाठ करे। यह प्रक्रिया 7 सोमवार करें तो अनुकूल योग बनने लग जाते हैं और कर्जा संबंधी परेशानियां जल्द दूर होने लगती हैं।

ऐसे जातक मंगलवार को शिव मन्दिर में जाकर शिवलिंग पर मसूर की दाल “ॐ ऋण मुक्तेश्वर महादेवाय नम:´´ मंत्र बोलते हुए चढ़ाएं। ऐसा करने से कर्ज से मुक्ति मिलने की संभावना बढ जाती है।

#काली मिर्च से आकस्मि धन प्राप्ति के उपाय


नौकरी में हर प्रकार की बाधा इन उपायों से होगी दूर Next
Astro tips, get ridof from hurdles of job, problems in job, tension in job, obstacle in job, how to handle the problems of job, praying god, lord shani, using mantra jaap, astrology

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer