सर्वश्रेष्ठ बनने के लिए बहुआयामी होना पड़ता है : कोहली

By: Team Aapkisaheli | Posted: 22 Oct, 2019

सर्वश्रेष्ठ बनने के लिए बहुआयामी होना पड़ता है : कोहली
रांची। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली बार टेस्ट में क्लीन स्वीप करने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि किसी भी समय चुनौतियों का सामना करने के लिए बहुआयामी होना महत्वपूर्ण है। भारतीय क्रिकेट टीम ने मंगलवार को अपने दमदार प्रदर्शन को जारी रखते यहां दक्षिण अफ्रीका को तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी मैच में पारी और 202 रनों से करारी शिकस्त दी।

भारत ने इस जीत के साथ ही टेस्ट सीरीज में पहली बार दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3-0 से क्लीन स्वीप किया।

कोहली ने मैच के बाद कहा, एक टीम के रूप में हमने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, वह गर्व की बात है। आप लोगों ने इस बारे में काफी बात की है। एक टीम के तौर पर हमारा प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा है। मुझे अपनी पूरी टीम पर गर्व है। विदेशी दौरों पर भी हमने हर मैच में कड़ा मुकाबला किया है।

उन्होंने कहा, टीम की मानसिक ²ढ़ता देखना लाजवाब है। यह सीरीज हमारे लिए बहुत अच्छी रही है। दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनने के लिए आपको बहुआयामी होना पड़ता है।

कोहली ने अपने गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें अपने गेंदबाजों पर गर्व है।

कप्तान ने कहा, हमारी टीम में सिर्फ ईशांत शर्मा ही अनुभवी तेज गेंदबाज थे। फील्डर्स ने भी कड़ी मेहनत की। हमारी टीम की कैचिंग भी अच्छी रही। हा कि जब टीम मिलकर खेलती है तो देखना अच्छा लगता है। हमारे पास बहुत अधिक अनुभव नहीं था लेकिन हमारा खेल बहुत अच्छा रहा। हमारा विश्वास है कि हम दुनिया में कहीं भी जीत सकते हैं।
 (आईएएनएस)

जानें 10 टिप्स: पुरूषों में क्या पसंद करती हैं लडकियां

अनचाहे बालों को हटाना अब मुसीबत नहीं...

5 कमाल के लाभ बाई करवट सोने के...


Mixed Bag

error:cannot create object