1 of 1 parts

सुलझाएं रिश्तों की 5 उलझनें

By: Team Aapkisaheli | Posted: 11 July, 2018

सुलझाएं रिश्तों की 5 उलझनें
रिश्तों में प्यार की मिठास जिन्दगीभर बनी रहे, इसके लिए जरूरी है कुछ बातों का ध्यान रखना, रिश्तों की उलझनों को वक्त रहते सुलझाना, ताकि आपकी जिन्दगी हमेशा मुस्कुरती रहे।
पैसा- रिश्तें में तनाव व मतभेद का सबसे बडा कारण पैसा होता है। ऎसा इसलिए होता है, क्योंकि पैसा अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीजों का प्रतीक है। पैसा किसी केलिए पावर है तो किसी केलिए कंट्रोल, सिक्योरिटी या प्यार।

ब्वॉयफ्रेंड पर था शक, सच्चाई जान रह गई सन्न

सैल्यूशन
1-पैसे को रिश्ते में बराबरी करने का माध्यम या आधिपत्य जमाने का साधन ना मानें। साथ मिलकर निर्णय लें कि किस तरह पैसे का सही उपयोग किया जाए।
2-ज्वाइंट बैंक अकाउंट रखें, ताकि तेरे-मेरे पैसे का सवाल ही ना उठे। 3-एक-दूसरे से आय, कर्ज, बैंक या क्रेडिट कार्ड स्टेटेमेंट ना छिपाएं।
4-यदि कपल्स पैसे से जुडे दायित्वों को आपस में शेयर कर लें और पैसा खर्च करते समय एक-दूसरे से सलाह-मशवरा लें तो पैसा कभी भी रिश्तों में समस्या नहीं बन पाएगा। 5-इंश्योंरेंस पॉलिसी, इंवेस्टमेंट प्लान आदि पर विचार-विमर्श करें।
दहेज में मिलेंगे 1200 करोड, फिर भी शादी से डर रहे लडके!
अविश्वास- आपसी विश्वास रिश्ते की मजबूती का सबसे अहम आधार होता है। आप गलत ना भी हों, पर जीवनसाथी से बाते छिपाना उसके विश्वास को तोडने जैसा ही होता है। आपके किसी व्यवहार की वजह से पार्टनर का संदेह करना, कुछ बातें अनकही रह जाना, गलत फहमियों को दूर ना करना आदि बाते अविश्वास को जन्म देती हैं।
सैल्यूशन-
1-आप जो कहते हैं, वही करें। किसी तरह की टालमटोल ना करें। यदि घर आने में देरी हो रही हो तो अपने पार्टनर को सूचित अवश्य करें और देरी का कारण भी बताएं।
2-कभी भी अपने साथी से झूठ ना बोलें।
3-पार्टनर का विश्वास जीतने केलिए आपको भी यह जतलाना होगा कि आप हमेशा उसके साथ हैं और वह हर छोटी=बडी बात आपसे शेयर कर सकता है।
उतार-चढाव-जीवन में आने वाले उतार चढावों का सीधा असर आपके रिश्ते पर पडता है, यदि कभी आपको फायनेंशियल या फै मिली परेशानी से जूझना पडे तो उसके लिए अपने साथी को दोषी ठहराने की बजाय उसका साथ दें व उस परेशनी से निकलने का प्रयास करें।
सैल्यूशन
1-आपस मे हंसी मजाक करें, इसे संघर्ष के दौर से निबटने का माध्यम बनाएं।
2-आपस में झगडने के बजाय उन स्थितियों को ठीक करनेकी दिशा में कार्य करें, जिनकी वजह से समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं।
3-अपनी जरूरतों को सीमित कर लें, ताकि साथी पर अनावश्यक बोझ ना पडे। कम्यूनिकेशन-वैवाहिक जीवन में तनाव या परेशानियां उस स्थिति में ज्यादा उपजती हैं, जब पति-पत्नी एक-दूसरे से अपने मन की बात या भावनाएं शेयर नहीं करते। यह कम्यूनिकेशन गैप उनके अन्दर गुस्से की भावना पैदा करता है।
सैल्यूशन 1-साथी से अपनी बात कहें, अपनी भावनाएं, मन की बातें शेयर करें।
2-आपके बीच में चाहे कितना ही प्यार व समझदारी क्यों ना हो, यह अपेक्षा ना रखे कि साथी बिना कहे आपके दिल की सारी बातें समझ लेगा।
बच्चो- माना जाता है कि बच्चो वैवाहिक रिश्ते में एक पुल का काम करते हैं, लेकिन वे रिश्तों में उपजे कई विवादों के कारण भी हो सकते हैं, बच्चे के जन्म, परवरिश व करियर को लेकर अकसर कपल्स में बहस होती रहती है, जिससे बच्चो के विकास पर भी असर पडता है।
सैल्यूशन
1-पैंरेंट्स को झगडते देख बच्चो इमोशनल ब्लैकमेलिंग करने से भी नहीं चूकते हैं, इसलिए उनके सामने अपने मतभेद कभी ना प्रकट करें।
2-बच्चे आपके जीवन में लडाई-झगडे का कारण ना बनें, इसके लिए कभी उनके सामने एकदूसरे की बात ना काटें।
3-आपसी विचार-विमर्श करके ही उनकी परविश, करियर व जीवन से सम्बन्धित निर्णय लें।

#अनचाहे बालों को हटाना अब मुसीबत नहीं...


relationship tips, love, romance,

Mixed Bag

error:cannot create object