1 of 1 parts

ये उपाय करने से होगी पैसे की तंगी दूर

By: Team Aapkisaheli | Posted: 29 Mar, 2019

ये उपाय करने से होगी पैसे की तंगी दूर
कई बार ऐसा होता है कि इंसान कडी मेहनत करने के बाद भी अपनी जिंदगी में पैसे की तंगी से जूझता ही रहता है और धनवान नहीं बन पाता है। लेकिन ज्योतिष में कुछ ऐसे उपाय भी बताए गए हैं जिन्हें करने से अपार धन संपदा हासिल कर धनवान बनने का सपना पूरा किया जा सकता है। आखिर किस तरह यह सब किया जा सकता है, आइए जानते है।

ज्योतिष के अनुसार, हर व्यक्ति की जन्मपत्री में दूसरा भाव धन का होता है और अगर यह भाव किसी पाप ग्रह से पीडित हो या कोई अशुभ ग्रह इस भाव में बैठता हो तो धन की समस्या बनी रहती है।

जन्मपत्री का ग्यारहवा भाव लाभ का होता है और इस भाव के भी पीडित होने या किसी अशुभ ग्रह के इस भाव में आकर बैठने या देखने से भी पैसा बडी मुश्किल से आता है और कभी जुड नहीं पाता है। इसलिए इन भावों की समस्या को दूर कर धन योग बनाने के लिए अनुभवी ज्योतिषी की सलाह के बाद धन के कारक उचित रत्न को शुभ दिन, मुहूर्त में धारण कर लेना चाहिए।

धन की प्राप्ति के लिए व्यक्ति को शिव जी की अराधना करनी चाहिए जिससे धन आगमन के स्त्रोत बनने लगेंगे।
इसके अलावा इंसान को सुबह स्नान आदि से शुद्व होकर कनकधारा स्त्रोत व श्री सूक्त का भी पाठ करना चाहिए।
इस तरह नियमित पाठ करने से कुछ महीनों में बडे धन प्राप्ति के योग बनने लगेंगे और धनवान बनने का सपना भी पूरा होता दिखाई देगा। ज्योतिष के अनुसार चंद्रमा की अराधना से भी धन का संकट नहीं आता है और धन संबंधी परेशानियां दूर होती हैं।

#ब्लैक हैड्स को दूर करने के लिए घरेलू टिप्स


money problem,money problem solution,money problem,dharm news,astro news,astrology news in hindi,vastu tips,jeevan matra,astrology,vastu tips for home,vastu tips to getting success,vastu tips in hindi,

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer