1 of 2 parts

उच्च रक्तचाप बढ़ाता है दिल के दौरे का खतरा

By: Team Aapkisaheli | Posted: 17 May, 2019

उच्च रक्तचाप बढ़ाता है दिल के दौरे का खतरा
उच्च रक्तचाप बढ़ाता है दिल के दौरे का खतरा
नई दिल्ली। खामोश हत्यारे के नाम से कुख्यात उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) दिल और मस्तिष्क के दौरे के खतरे को कई गुना बढ़ा देता है। चिकित्सा विशेषज्ञ बताते के अनुसार उच्च रक्तचाप के कारण दिल के दौरे व ब्रेन अटैक या स्ट्रोक होने का खतरा दोगुना हो जाता है और अगर हाइपरटेंशन के अलावा तनाव एवं नींद की समस्या भी हो तो यह खतरा चार गुना तक बढ़ सकता है।

हृदय रोग विशेषज्ञ व नई दिल्ली स्थित कालरा हॉस्पीटल एंड श्रीराम कार्डियो थोरेसिक एंड न्यूरोसाइंसेस सेंटर (एसआरसीएनसी) के निदेशक डॉ. आर.एन. कालरा ने बताया कि अध्ययनों से यह साबित हो चुका है कि उच्च रक्तचाप और दिल के दौरे के बीच गहरा संबंध है। उच्च रक्तचाप हृदय रोग के लिए एक महत्वपूर्ण जोखिम कारक है, क्योंकि जब रक्तचाप बढ़ जाता है, तो शरीर के चारों ओर रक्त पंप करने के लिए हृदय को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इस अतिरिक्त काम से दिल की मांसपेशियां मोटी होने लगती है, और इससे धमनी की दीवारें कठोर हो सकती हैं या उन्हें नुकसान भी पहुंच सकता है। इसके कारण, शरीर के अंगों तक कम ऑक्सीजन पहुंचता है और हृदय के अधिक काम करने के कारण समय के साथ हृदय क्षतिग्रस्त हो जाता है।

नई दिल्ली स्थित फोर्टिस एस्कार्ट हार्ट इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर के न्यूरोसर्जरी विभाग के निदेशक डॉ. राहुल गुप्ता के अनुसार, उच्च रक्तचाप न केवल दिल के दौरे के खतरे को बढ़ाता है, बल्कि यह ब्रेन स्ट्रोक का भी एक प्रमुख कारण है।

नवीनतम वैज्ञानिक अध्ययनों के अनुसार, हाइपरटेंशन के कारण ब्रेन स्ट्रोक होने का खतरा दोगुना हो जाता है। सिस्टोलिक रक्तचाप में हर 10 एमएम हीमोग्राम बढऩे से इस्कीमिक स्ट्रोक का खतरा 28 प्रतिशत तथा हैमेरेजिक स्ट्रोक का खतरा 38 प्रतिशत बढ़ता है। हालांकि उच्च रक्तचाप पर नियंत्रण रखने पर स्ट्रोक होने का खतरा घट जाता है।

वर्ष 2012 में जारी विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में 13 करोड़ 90 लाख लोग अनियंत्रित उच्च रक्तचाप से पीडि़त हैं और यह संख्या हर साल बढ़ रही है। भारत में वर्ष 1960 में उच्च रक्तचाप से 5 प्रतिशत लोग पीडि़त जो बढक़र 1990 में लगभग 12 प्रतिशत हो गया। वर्ष 2008 में यह बढक़र 30 प्रतिशत हो गया और लोग अपने 20 के दशक में भी उच्च रक्तचाप से पीडि़त होने लगे। उच्च रक्तचाप भारत में सभी स्ट्रोक से होने वाली मौतों में से 57 प्रतिशत और कोरोनरी हृदय रोग से होने वाली 24 प्रतिशत मौतों के लिए जिम्मेदार है।


#10 टिप्स:होठ रहें मुलायम, खूबसूरत व गुलाबी


उच्च रक्तचाप बढ़ाता है दिल के दौरे का खतरा Next
High blood pressure increases ,risk , heart attack

Mixed Bag

error:cannot create object