1 of 6 parts

घर बैठे पाएं निखरी और कोमल त्वचा

By: Team Aapkisaheli | Posted: 26 Oct, 2017

घर बैठे पाएं निखरी और कोमल त्वचा
घर बैठे पाएं निखरी और कोमल त्वचा
गोरा निखार पाने के लिए महंगी से महंगी क्रीम, लोशन का इस्तेमाल करते हैं पर फिर भी कोई लाभ नहीं मिलता है, जब आप आसानी से घर बैठकर ही सुंदर और गोरी त्वचा पा सकते हैं तो इतनी मशक्त क्यों करें। तो घरेलू नुस्खे से ही आप चमकदार त्वचा, हेल्दी, ग्लोइंग, फेयर पा सकती हैं और इसका कोई नुकसान भी नहीं होता। फल, दही, गुलाबजल, नींबू, चंदन, चीनी और शहद ना केवल हमारी बॉडी के लिये ही अच्छे होते हैं बल्कि इन्हें खाने और लगाने से चेहरे पर निखार भी आता है।

हल्दी- त्वचा की रंगत को निखारने के लिए हल्दी का प्रयोग सबसे बेहतर तरीका है। पेस्ट बनाने के लिए हल्दी, बेसन का प्रयोग करें। हल्दी और थोडी सी ताजी मलाई डालकर ब्लेंड करें। जब पेस्ट तैयार हो जाए तब उसमें दूध और आंटा मिलाएं और गाढा पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 10 मिनट लगाएं और ठंडे पानी से धो लें।

#पहने हों कछुआ अंगूठी तो नहीं होगी पैसों की तंगी...


घर बैठे पाएं निखरी और कोमल त्वचा Next
Get to glowing and fair skin at home, Simple Tips to Get Clear Glowing Skin, home remedies, home treatment for soft skin, Tips to Keep Skin Soft and Glowing, Winter, Skin Care

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer