झारखंड में संदिग्ध पत्थलगड़ी समर्थकों ने 7 लोगों की हत्या की

By: Team Aapkisaheli | Posted: 22 Jan, 2020

झारखंड में संदिग्ध पत्थलगड़ी समर्थकों ने 7 लोगों की हत्या की
रांची। एक स्तब्ध करने वाली घटना में झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिले में पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा कथित रूप से सात लोगों को अगवा कर लिया गया और माना जा रहा है कि उनकी हत्या कर दी गई है। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, मैं इस तरह की घटना से आहत हूं। कानून सभी के ऊपर है। आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। हम अधिकारियों के साथ समीक्षा करेंगे ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो।

रविवार को बुरगुलीकेला गांव में पत्थलगड़ी समर्थकों द्वारा एक बैठक बुलाई गई थी। गुलीकेला पंचायत के उपप्रमुख जेम्स भूड ने पत्थलगड़ी समर्थकों का विरोध किया। उसका रविवार को कथित तौर पर छह लोगों के साथ अपहरण किया गया था। जब वे सोमवार को नहीं लौटे तो परिवार के सदस्यों ने अनहोनी की आशंका से पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। मंगलवार को खबर फैली कि उन्हें मार दिया गया है।

पुलिस ने मंगलवार को तलाशी अभियान शुरू किया, लेकिन अब तक एक भी शव बरामद करने में नाकामयाब रही है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इलाके में डेरा डाले हैं और तलाशी अभियान अभी भी चल रहा है।

पत्थलगड़ी एक आदिवासी रिवाज है, जिसमें सीमांकन के लिए एक निश्चित जगह पर पत्थर को लगा दिया जाता है।

पत्थलगड़ी का इस्तेमाल 2016 में भाजपा सरकार द्वारा लाए गए दो भूमि अधिनियमों में संशोधन का विरोध करने के लिए किया गया था।

पत्थर का इस्तेमाल सरकार के विरोध प्रदर्शन के रूप सरकार के नीतियों के खिलाफ नारे लिखने के लिए किया जाता है।

सरकार के खिलाफ पत्थलगड़ी का समर्थन करने के लिए सैकड़ों लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। यहां तक कि राजद्रोह के आरोप भी लगाए गए और कई गिरफ्तार किए गए।

हेमंत सोरेन ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में पत्थलगड़ी से संबंधित मामलों को वापस ले लिया। (आईएएनएस)

अनचाहे बालों को हटाना अब मुसीबत नहीं...

काली मिर्च से आकस्मि धन प्राप्ति के उपाय

पहने हों कछुआ अंगूठी तो नहीं होगी पैसों की तंगी...


Mixed Bag

error:cannot create object