1 of 1 parts

अगर आप सपने में स्त्री और पुरुष को गले मिलते देखते है तो समझिए...

By: Team Aapkisaheli | Posted: 12 Dec, 2019

अगर आप सपने में स्त्री और पुरुष को गले मिलते देखते है तो समझिए...
यह बात हम सभी जानते है कि हर व्यक्ति चाहता है कि वह खूब सारा धन कमाये और चाहता है कि मरते दम तक लक्ष्मी उस पर मेहरबान रहे। लेकिन ऐसा मुमकिन नहीं है हर इंसान के जीवन में सुख के दिन या दुःख के दिन आते रहते है जिससे समय समय पर हैं धन की वर्षा होती है।

आइए आज हम आपको स्वप्न में दिखने वाले कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके ऊपर धन कि वर्षा का संकेत होते हैं।

(1) कहते यदि इंसान को स्वप्न में उल्लू दिखाई पड़ता है, तो ये लक्ष्मी के आगमन का संकेत है। इसके अलावा जब व्यक्ति दीपावली के दिन उल्लू का स्वप्न देखता है तो धन कि प्राप्ति होती है। अगर आप सपने उल्लू को अपनी ओर आते देखते हैं तो समझिए आपको धन प्राप्ति होने वाली है।

(2) अगर आप अपने सपने में अपने आप को ऊपर की ओर चढ़ते देखते है तो, जल्द ही आपकी उन्नति होती है ओर आपको कही से धन प्राप्ति होने वाली है।

(3) अगर अपने सपने में स्त्री ओर पुरुष को गले मिलते देखते है तो समझिए की आपको धन की प्राप्ति होने वाली है, लेकिन यही स्वप्न अगर स्त्री देखे तो उसके उसके लिए ये स्वप्न अशुभ माना जाता है।

(4) अगर आपको सपने में या रास्ते में अर्थी दिखी है तो, समझिए की आपको धन की प्राप्ति होने वाली है।

(5) अगर आपको सपने में फूल दिखे तो समझो आपको धन की प्राप्ति होने वाली हैै या फिर आपको कोई बड़ी सफलता प्राप्त होने वाली है।

#तिल मस्सों से हमेशा की मुक्ति के लिए 7 घरेलू उपाय


dreams,see things,owls,doors of luck,attainment of wealth,astrology news,astrology in hindi

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer