1 of 1 parts

8वीं पास उम्मीदवारों के लिए यहां निकली भर्ती....

By: Team Aapkisaheli | Posted: 09 Apr, 2018

8वीं पास उम्मीदवारों के लिए यहां निकली भर्ती....
आविन दुग्ध तमिलनाडु सहकारी दुग्ध उत्पादक फेडरेशन लिमिटेड ने तकनीशियन, ड्राइवर एवं फैक्ट्री असिस्टेंट पदों की भर्ती का नोटिफिकेशन जारी किया है। इच्‍छुक उम्मीदवार जो सहकारी लिमिटेड में नौकरी करना चाहते है, तो ये उनके लिए सुनहरा मौका है। 
 
विभाग का नाम - आविन दुग्ध तमिलनाडु सहकारी दुग्ध उत्पादक फेडरेशन लिमिटेड 

पद का नाम - कनीशियन, ड्राइवर एवं फैक्ट्री असिस्टेंट पद 
 
पदों की संख्या - 06 पद


योग्यता - 8 वीं + वैलिड लाइट / हैवी व्हीकल ड्राइविंग लाइसेंस + 3 साल का ड्राइविंग एक्सपीरियंस / 10 वीं + आईटीआई / 12 वीं / इंजीनियरिंग डिप्लोमा (इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स / मैकेनिकल) + तमिल भाषा का ज्ञान अथवा इसके समकक्ष डिग्री हो।


आवेदन की अंतिम तिथि - 20 अप्रेल 2018 तक


स्थान - तमिलनाडु


आयु सीमा - उम्मीदवार की आयु 18-30 (For Unreserved Category) / 32 (MBC/DNC/BC) / 35 (SC/SCA/ST) वर्ष के बीच होनी चाहिए।


चयन प्रक्रिया – उम्मदवारों का चयन रिटेन टेस्ट और ओरल टेस्ट में प्रदर्शन के अनुसार होगा।  

#बॉलीवुड डीवाज के फेवराइट बने झुमके


golden opportunity ,get job,8th pass

Mixed Bag

News

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार 
करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है
 जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा,
मुंबई । बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह खुद से प्यार करती हैं और महामारी के दौरान उन्होंने उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया है जो उन्हें खुश करती हैं। भूमि ने कहा, "एक चीज जो मैंने अपने बारे में सीखी है, वह यह कि मुझे अलग, भीड़ से दूर रहना पसंद है। मैंने खुद से प्यार किया है। मैंने बहुत से लोगों को शिकायत करते देखा कि वे घर पर बोर हो चुके हैं या वे बाहर नहीं जा सकते। मैं भी एक एक्सट्रोवर्ट हूं, मैं एक बहुत ही सामाजिक व्यक्ति हूं, लेकिन इस क्वारंटाइन ने मुझे यह एहसास दिलाया है कि मैं लोगों से मिलने की बजाय अलगाव पसंद करती हूं, क्योंकि मैं वास्तव में लोगों के संपर्क में नहीं हूं।"उन्होंने आगे कहा, "मैं किताबे पढ़ने पर जोर दे रही हूं, ज्यादा टेलीविजन नहीं देखा, लेकिन अब शो देखना शुरू कर दिया है। मैंने अपनी मां के साथ बहुत समय बिताया है, और ईमानदारी से कहूं तो ऐसे दिन भी थे जब मैंने कुछ नहीं किया।"भूमी का कहना है कि आत्म-प्रेम खुशी की चाबी है और उसने इस लॉकडाउन में खुद को प्राथमिकता दी है।उन्होंने आगे कहा, "मैंने जीवन में जो कुछ भी महत्वपूर्ण है, उसे प्राथमिकता दी है। मैंने खुद को फिर से शिक्षित किया है। लेकिन सबसे बड़ी सीख यह रही है कि मुझे अकेले रहना बहुत पसंद है।" (आईएएनएस)

Ifairer