मैं अब सीनियर रिकार्ड तोडऩा चाहती हूं : मेहुली घोष

By: Team Aapkisaheli | Posted: 17 Mar, 2018

मैं अब सीनियर रिकार्ड तोडऩा चाहती हूं : मेहुली घोष
कोलकाता। हाल ही में मैक्सिको में खत्म हुए आईएसएसएफ विश्व कप में दो कांस्य पदक जीतने वाली युवा निशानेबाज मेहुली घोष की नजरें अब सीनियर विश्व रिकार्ड को तोडऩे पर हैं।

अपने पहले विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करने वाली मेहुली महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल और मिश्रित टीम स्पर्धा में पदक  जीतने में सफल रही थीं। अब उनकी कोशिश ज्यादा से ज्यादा टूर्नामेंट में इसी फॉर्म को जारी रखने की है।

2014 में पश्चिम बंगाल राज्य जूनियर चैम्पियनशिप में पहली बार अपनी छाप छोडऩे वाली मेहुली ने कहा कि वह हमेशा अपने पैर जमीन पर रखेंगी और इस सफलता को अपने ऊपर हावी नहीं होने देंगी।

मेहुली ने आईएएनएस से कहा, ‘‘मैंने जूनियर विश्व रिकार्ड बनाया था। अब मैं सीनियर विश्व रिकार्ड बनाना चाहती हूं। मैं जितने टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन कर सकती हूं करना चाहती हूं। मैं संतुष्ट होकर बैठने वाली नहीं हूं।’’

कोलकाता हवाई अड्डे पर मेहुली के स्वागत में 200 लोग जमा हुए थे। मेहुली ने कहा, ‘‘यह खेल का हिस्सा है और खिलाड़ी इसका सामना करता है।’’

मेहुली ने कहा, ‘‘मैं जितना इसके बारे में सोचूंगी उसका असर उतना ही होगा। मैं लय के साथ आगे बढऩा चाहती हूं। अंत में मुझे अपना खेल खेलना है और उस पर ध्यान देना है। जो तवज्जो मुझे मिल रही है मैं उस पर ध्यान नहीं दे रही हूं।’’

मेहुली ने जॉयदीप कर्माकर की अकादमी में निशानेबाजी की शुरुआत की थी।  

पिछले मई में वह चेकगणराज्य में खेली गई अंतर्राष्ट्रीय जूनियर चैम्पियनशिप में सातवें स्थान पर रही थीं। कुछ महीने बाद राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में उन्होंने अपने आप को साबित किया जहां उन्होंने नौ पदक हासिल किए जिसमें दो स्वर्ण और सात रजत पदक शामिल हैं।

मैक्सिको में 228.4 का स्कोर कर कांस्य पदक जीतने के बाद आए विचार के बारे में मेहुली ने कहा, ‘‘जब मैं पोडियम पर गई तो मेरे लिए यह गर्व का पल था। मेरी भावना कम नहीं हुई थी क्योंकि मुझे अगले दिन मिश्रित टीम स्पर्धा में हिस्सा लेना था।’’

कोलकाता से 30 किलोमीटर दूर बेदयाबती में रहने वाली मेहुली अब अगले महीने से शुरू हो रहे राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेंगी।

इस पर मेहुली ने कहा, ‘‘मैं इन खेलों के लिए कोई अलग से तैयारी नहीं कर रही हूं। मेरे लिए यह नई चुनौती होगी और मुझे शुरू से शुरुआत करनी होगी। मैं विश्व कप की सफलता पर राष्ट्रमंडल खेलों में नहीं टिक सकती। मुझे नई शुरुआत करनी होगी।’’

17 साल की मेहुली ने माना कि उन्हें अपने आप को और बेहतर करने के लिए मानिसक तौर पर मजबूत होना होगा साथ ही फिटनेस पर भी ध्यान देना होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे मानसिक और शारीरिक तौर पर मजबूत होने के लिए काम करना होगा। मुझे लगता है कि तकनीक के तौर पर मुझे ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है।’’

मेहुली इस उम्मीद में हैं कि इस सफलता के बाद उनको अपने आदर्श खिलाड़ी बैडमिंटन स्टार पी.वी. सिंधु का फोन आएगा। उन्होंने कहा कि सिंधु की आक्रामकता और फोकस उन्हें काफी प्रभावित करता है।

उन्होंने कहा, ‘‘वह इस समय ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैम्पियनशिप में खेल रही हैं। मुझे पता चला है कि जब वह भारत वापस आ जाएंगी तो मुझे फोन करेंगी। जॉयदीप सर ने मुझे इस बारे में बताया है। मैं उनके फोन का इंतजार कर रही हूं।’’

(आईएएनएस)

सफेद बालों से पाएं निजात: अपनाएं ये 7Home tips

परिणीती का मस्त Style देखकर आप भी कहेंगे हाय!

काली मिर्च से आकस्मि धन प्राप्ति के उपाय


Mixed Bag

error:cannot create object