अगुस्टा वेस्टलैंडः क्रिश्चियन मिशेल का वकील पहुंचा कांग्रेस मुख्यालय

By: Team Aapkisaheli | Posted: 05 Dec, 2018

अगुस्टा वेस्टलैंडः क्रिश्चियन मिशेल का वकील पहुंचा कांग्रेस मुख्यालय
नई दिल्ली। अगस्ता वेस्टलैंड केस के बिचौलियों में से एक क्रिश्चियन मिशेल को बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया जहां मिलेश को पांच दिन की सीबीआई रिमाट पर भेजा गया है। इस मामले में राजनीति घमासान शुरू हो गया है। दुबई से मिशेल को भारत लाए जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि अब मिशेल राज खोलेगा। आज पेशी के बाद मिशेल के वकील अल्जो के जोसेफ कांग्रेस मुख्यालय में नजर आए। बताया जा रहा है कि कांग्रेस दीपक बाबरिया से मिलने गए थे

एल्जो जोसेफ, बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल की तरफ से अदालत में पेश हुए। वो पेशे से वकील होने के साथ इंडियन यूथ कांग्रेस के लीगल सेल के पदाधिकारी हैं। क्रिश्चियन मिशेल का पक्षकार बनने पर उनसे सवाल होना लाजिमी था। जोसेफ से सवाल भी हुआ और उनका जवाब नेताओं द्वारा दिये जाने वाले पारंपरिक जवाब की तरह था। वो कहते हैं कि ये बात सच है कि वो कांग्रेस से जुड़े हैं। लेकिन वो पेशेवर वकील हैं, उनके पेशे को आप कांग्रेस पार्टी और क्रिश्चियम मिशेल के बीच संबंधों को जोडक़र नहीं देख सकते। दरअसल जोसेफ पर विवाद तब उठ खड़ा हुआ जब कांग्रेस मुख्यालय में महासचिव दीपक बाबरिया से मिले

एल्जो जोसेफ अपनी सफाई में बताते हैं कि उनकी वकालत और पार्टी के बीच संबंध होना दोनों अलग अलग मुद्दे हैं। दुबई में उनका एक दोस्त है जो क्रिश्चियन मिशेल का भी दोस्त है। उनके दोस्त ने क्रिश्चियन मिशेल के केस को लडऩे की अपील की। वो उसके अनुरोध को ठुकरा नहीं सके। इस मामले को राजनीतिक रंग देना सही नहीं होगा।

ये कुछ वैसे ही है जैसे मछली और पानी के बीच का संबंध हो। मछली कब पानी पी लेती है उसका जवाब मछली ही दे सकती है। ठीक वैसे ही जोसेफ किस समय पेशेवर वकील हैं और किस समय वो कांग्रेस के सदस्य हैं और वो किस अंदाज में क्रिश्चियन मिशेल का मुकदमा लड़ेंगे इसका बेहतर जवाब वो खुद दे सकते हैं। लेकिन बीजेपी ने कांग्रेस की घेरेबंदी की।

बीजेपी ने कहा कि क्रिश्चियन मिशेल के केस में एल्जो जोसेफ का शामिल होना इस बात को इंगित करता है कि कांग्रेस किस तरह से दलालों और भ्रष्ट लोगों के साथ खड़ी होती रही है। अगस्ता का मामला अदालत में हैं लिहाजा ज्यादा कुछ नहीं कहा जा सकता है। लेकिन एक बात तो साफ है कि मिशेल के भारत आने के बाद कांग्रेस की टॉप लीडरशिप परेशान है।

हैदराबाद में रैली के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से जब इस मामले में प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि इस मामले में पार्टी ने पहले ही अपना स्टैंड क्लियर कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को बताना चाहिए कि राफेल के लिए 30,000 करोड़ रुपये अंबानी की जेब में क्यों डाले गए।

सोनाक्षी के बोल्ड लुक्स देखकर हैरान हो जाएंगे आप!

सफेद बालों से पाएं निजात: अपनाएं ये 7Home tips

गर्लफ्रैंड बनने के बाद लडकियों में आते हैं ये 10 बदलाव


Mixed Bag

error:cannot create object